breaking news New

Hemant Soren sworn in : झारखंड में हेमंत सोरेन ने दूसरी बार संभाली कमान, 11वें मुख्यमंत्री के रूप में ली शपथ

Hemant Soren sworn in : झारखंड में हेमंत सोरेन ने दूसरी बार संभाली कमान, 11वें मुख्यमंत्री के रूप में ली शपथ

रांची। झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के नेता हेमंत सोरेन ने रविवार को झारखंड की कमान दूसरी बार संभाल ली। एक भव्य समारोह में उन्होंने राज्य के 11वें मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राज्यपाल द्रौपदी मुर्मु ने 44 वर्षीय सोरेन को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस मौके पर मंच पर कई विपक्षी नेता मौजूद रहे, जिनसे क्षेत्रीय विपक्षी दलों की 'ताकत" की झलक मिल रही थी।

झारखंड मुक्ति मोर्चा JMM के नेता हेमंत सोरेन ने झारखंड के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ग्रहण कर ली है। रविवार दोपहर रांची में हुए एक समारोह में उन्‍हें राज्‍यपाल द्रोपदी मुर्मु ने पद व गोपनीयता की शपथ दिलाई। उनके साथ ही मंत्रिमंडल में शामिल मंत्रियों ने भी अपने पद की शपथ ली। कांग्रेस के रामेश्वर उरांव ने मंत्री पद की शपथ ली। उन्‍हें राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू द्वारा शपथ दिलाई गई। राजद के सत्यानंद भोगता ने मंत्री पद की शपथ ली।

सोरेन के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर बधाई दी है। उन्होंने कहा, 'झारखंड के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के लिए हेमंत सोरेन जी को बधाई। मैं झारखंड के विकास के लिए केंद्र की ओर से हरसंभव सहायता का आश्वासन देता हूं।" झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन की सरकार में तीन और मंत्रियों ने भी शपथ ली है। इनमें पूर्व विधानसभा स्पीकर तथा कांग्रेस नेता आलमगीर आलम, झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रामेश्वर ऊरांव तथा राजद विधायक सत्यानंद भोक्ता शामिल हैं।


ये प्रमुख नेता रहे मौजूद

शपथ-ग्रहण समारोह में कांग्रेस नेता राहुल गांधी, तृणमूल कांग्रेस प्रमुख व बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, राजस्थान तथा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री क्रमश: अशोक गहलोत व भूपेश बघेल, माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, द्रमुक नेता एमके स्टालिन तथा उनकी बहन कनिमोझी और राजद नेता तेजस्वी यादव, भाकपा नेता डी. राजा, राकांपा प्रमुख शरद पवार मौजूद रहे। लोकसभा चुनाव में बुरी हार झेलने वाले विपक्ष के लिए यह मौका बड़ा राहत देने वाला था। आम चुनाव के कुछ ही महीने बाद भाजपा के हाथ यह दूसरा राज्य चला गया है। इस कारण यहां जुटे विपक्षी नेताओं में गर्मजोशी दिख रही थी।

2013 में पहली बार मुख्यमंत्री बने थे सोरेन

हेमंत सोरेन पहली बार भी कांग्रेस और राजद के समर्थन से 2013 में मुख्यमंत्री बने थे। जबकि इसके पहले 2010 में उपमुख्यमंत्री बने थे। वहीं, आलम और ऊरांव पहली बार मंत्री बने हैं। भोक्ता राजद में आने से पहले 2000 और 2005 के बीच भाजपा नीत राजग सरकार में कृषि मंत्री रह चुके हैं।