breaking news New

Jaipur Bomb Blast 2008 Timeline: डेढ़ घंटे में हुए थे 9 धमाके, दहल उठा था गुलाबी शहर, पढ़ें कब क्‍या हुआ था

 Jaipur Bomb Blast 2008 Timeline: डेढ़ घंटे में हुए थे 9 धमाके, दहल उठा था गुलाबी शहर, पढ़ें कब क्‍या हुआ था

जयपुर। Jaipur Bomb Blast 2008 : जयपुर बम धमाकों के मामले में स्‍पेशल कोर्ट ने फैसला सुना दिया है। घटना के पांचों आरोपियों को दोषी माना गया है। अदालत ने मामले में सजा के सभी चार दोषियों - सरवर आज़मी, मोहम्मद सैफ, सैफुर रहमान, और सलमान को मौत की सजा देने की ऐलान किया है। इस खबर के साथ ही जयपुर शहर को 11 साल बाद इंसाफ मिल गया है। 2008 में हुए बम धमाकों में यहां 71 लोगों की मौत हो गई थी। 185 लोग घायल हो गए थे। सिर्फ 15 मिनट के अंतराल और तीन से चार किलोमीटर की दूरी में जयपुर का ऐतिहासिक परकोटा क्षेत्र दहल गया था। खौफ के सौदागरों ने जयपुर के मंदिरों में आरती के लिए जा रहे लोगों, व्यस्त बाजारों में सडक पर कारोबार करने वाले गरीब लोगों और उन मासूमोंं को निशाना बनाया जो कभी सोच भी नहीं सकते थे कि जयपुर में ऐसा भी कुछ हो सकता है। इस हादसे के बाद दो दिन तक जयपुर में कर्फ्यू लगा रहा जो हटते ही जयपुर सामान्य हो गया और फिर पहले जैसे जोश के साथ रोजमर्रा की जिंदगी शुरू हो गई।

कुछ यूं चला विस्फोटों का सिलसिला

1- 13 मई 2008 की शाम करीब 7.20 बजे पहला बम धमाका ऐतिहासिक हवामहल के सामने खंदा माणकचैक में हुआ।

2- दूसरा बम धमाका बड़ी चौपड़ के पास मनिहारों के खंदे में ताला चाबी वालों की दुकानों के पास शाम करीब 7.25 बजे हुआ।

3- तीसरा बम धमाका शाम करीब 7.30 बजे छोटी चौपड़ पर कोतवाली थाने के बाहर पार्किंग में हुआ

4- चौथा बम धमाका भी इसी समय दुकान नंबर 346 के सामने, त्रिपोलिया बाजार के पास हुआ

5- पांचवा बम धमाका चांदपोल बाजार स्थित हनुमान मंदिर के बाहर पार्किंग स्टैंड पर शाम 7.30 बजे हुआ। इसमें सबसे ज्यादा 25 लोगों की मौत हुई। लोग भगवान की आरती के लिए जा रहे थे।

6- छठा बम ब्लास्ट जौहरी बाजार में पीतलियों के रास्ते की कार्नर पर नेशनल हैंडलूम के सामने शाम करीब 7.32 बजे हुआ

7- सातवां बम धमाका शाम 7.35 बजे छोटी चौपड़ पर फूलों के खंदे में हुआ

8- आठवां बम धमाका जौहरी बाजार में सांगानेरी गेट हनुमान मंदिर के बाहर शाम 7.36 बजे हुआ

9- नौवे ब्लास्ट की कोशिश दुकान नंबर 17 के सामने चांदपोल बाजार में एक गेस्ट हाउस के बाहर की थी, जिसमें रात 9 बजे का टाइमर सेट था, लेकिन 15 मिनट पहले बम स्कॉड टीम ने इसे डिफ्यूज कर दिया।