breaking news New

Donald Trump ने ली कसम , बनकर रहेगी मेक्सिको बॉर्डर पर दीवार

Donald Trump ने ली कसम , बनकर रहेगी मेक्सिको बॉर्डर पर दीवार

अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप मंगलवार को अपने सालाना ‘स्टेट ऑफ दि यूनियन’ संबोधन में आव्रजन, राष्ट्रीय सुरक्षा, व्यापार और काफी बंटी हुई कांग्रेस (संसद) में एकता की जरूरत जैसे कई अहम मुद्दों पर जोर देंगे। ट्रंप के इस संबोधन के साथ ही राष्ट्रपति पद पर उनके पहले कार्यकाल का उत्तरार्द्ध शुरू होगा। 

‘स्टेट ऑफ दि यूनियन’ संबोधन की तैयारियों से वाकिफ अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि अपनी आक्रामक टिप्पणियों और विपक्षी डेमोक्रेटिक नेतृत्व के खिलाफ बार-बार बोले जाने वाले हमलों के उलट ट्रंप देश के सामने मौजूद चुनौतियों को सुलझाने के लिए राष्ट्रीय एकता का खाका खींचने की मंशा रखते हैं। सालाना ‘स्टेट ऑफ दि यूनियन’ संबोधन में राष्ट्रपति अमेरिकी संसद को संबोधित करते हैं। 

गौरतलब है कि बीते हफ्ते कांग्रेस में दीवार की फंडिंग के ट्रंप के प्रस्ताव के विरोध में अमेरिकी इतिहास का 35 दिन लंबा शटडाउन समाप्त हुआ. कांग्रेस के ज्यादातर सदस्य मेक्सिको बॉर्डर पर दीवार बनाने के लिए फंडिंग के प्रस्ताव का विरोध कर रहे हैं. वहीं ट्रंप अपने इस चुनावी वादे को पूरा करने के लिए किसी हद तक जानें की बात कर रहे हैं. वहीं विपक्षी डेमोक्रैट पार्टी की दलील है कि दीवार बनाना सिर्फ पैसा बर्बाद करना है और इससे न तो गैरकानूनी अप्रवासियों को रोका जा सकता है और न ही ड्रग्स की तस्करी पर लगाम लगाने में यह कारगर साबित होगी. मेक्सिको सीमा पर दीवार के अलावा अपने स्टेट ऑफ दि नेशन भाषण में ट्रंप ने डेमोक्रैट पार्टी को दलगत राजनीति से ऊपर उठकर उनके खिलाफ जांच की प्रक्रिया को बंद करने की अपील की. ट्रंप ने कहा कि यह जांच पूरी तरह से बेहुनियाद है और इससे अमेरिकी अर्थव्यवस्था को बड़ा नुकसान पहुंच सकता है.

ट्रंप ने कहा कि उनकी नीतियों से अमेरिकी अर्थव्यवस्था में जादुई परिवर्तन देखने को मिल रहा है. ट्रंप के मुताबिक इस परिवर्तन को गलत युद्ध, राजनीति और बेबुनियाद जांच से नुकसान पहुंचेगा लिहाजा देश की राजनीति को अमेरिकी हितों के लिए अहम मुद्दों पर एकमत होकर अमेरिका की तरक्की का रास्ता साफ करने की जरूरत है.

गौरतलब है कि कांग्रेस में विपक्षी डेमोक्रैट पार्टी का बहुमत है और विपक्ष ने ट्रंप प्रसाशन के खिलाफ कई मामलों में जांच की प्रक्रिया शुरू की है. इसके अलावा राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ 2016 के राष्ट्रपति चनावों में रूस के साथ सांठगांठ करने के आरोपों की जांच भी स्पेशल प्रोजीक्यूटर द्वारा की जा रही है. हालांकि मामले में रूस साफ कर चुका है कि उसने अमेरिकी चुनावों में दख्लंदाजी नहीं की और ट्रंप ने सांठगांठ के आरोपों से इंकार किया है.