breaking news New

पूर्व महापौर ने आरडीए के पूर्व अध्यक्ष पर लगाया 86 करोड़ के घोटाले का आरोप

पूर्व महापौर ने आरडीए के पूर्व अध्यक्ष पर लगाया 86 करोड़ के घोटाले का आरोप

रायपुर। रायपुर की पूर्व महापौर ने आरडीए के पूर्व अध्यक्ष के खिलाफ सरकारी सम्पत्ति को नियम के विपरीत बेचने और अपने मनचाहे लोगों को बेचकर 86 करोड़ 42 लाख 89 हजार नौ सौ चालीस रूपए के घोटाले का आरोप लगाया है। पूर्व महापौर डॉ. किरणमयी नायक ने इसकी शिकायत ईओडब्लू से की और कार्रवाई की मांग की है। डॉ. नायक ने इस मामले पर पूरे साक्ष्य दस्तावेज के रूप में ईओडब्लू को सौंपे हैं।
किरणमयी नायक ने ईओडब्लू को सौंपे दस्तावेज में बताया है कि आरडीए के तत्कालीन अध्यक्ष के रूप में संजय श्रीवास्तव सहित आरडीए के तत्कालिक कार्यकारी मंडल ने 7 लोगों को नियम विरुद्ध जमीन दी है। इसमें पीताम्बर सुन्दरानी को 13 हजार नौ सौ 93 फुट, गुरमीत कौर को 11625 फुट, पुष्पावती समानी को 11732 फुट, जसपाल सिंग आर आरती महस्के को 14 हजार 6 सौ 40 फुट, सरदारी लाल गुप्ता को 21 हजार 9 सौ 58 फुट कान्ताबेन को 25 हजार 1 सौ 87 फुट और योगेश सोलंकी को 25 हजार 2 सौ 85 फुट जमीन एलॉट की गई है। जबकि इन्हें भूमि विनिमय नियम के अनुसार क्रमश: 4 हजार 8 सौ 97 फुट, 4 हजार 68 फुट, 4 हजार 1 सौ 6 फुट, 5 हजार 1 सौ 24 फुट 7 हजार 6 सौ 85 फुट, 8 हजार 8 सौ 15 फुट और 8 हजार 8 सौ 53 फुट जमीन एलॉट होना था। डॉ. किरणमयी नायक ने बताया कि पूर्व स्वीकृत अभिन्यास में बिना अनुमति के उपरोक्त सातों खरीदारों को अतिरिक्त जमीन का आबंटन किया गया है। उन्होंने बताया कि इसमें आरडीए ने नहर की भूमि को भी आबंटित कर दिया है। डॉ. किरणमयी नायक ने एडीजी ईओडब्लू जीपी सिंह को शिकायत पत्र सौंपकर उचित कार्रवाई की मांग की है। एडीजी ईओडब्लू जीपी सिंह ने शिकायत मिलने की पुष्टि करते हुए कहा कि नियमानुसार विभाग कार्रवाई करेगा।