breaking news New

Budget 2019 के मुताबिक कितना इनकम टैक्स चुकाना होगा : जानिए टैक्स में छूट की 10 बड़ी बातें

Budget 2019 के मुताबिक कितना इनकम टैक्स चुकाना होगा : जानिए टैक्स में छूट की 10 बड़ी बातें


एनडीए सरकार ने अंतरिम बजट पेश करते हुए आम लोगों को टैक्स में रियायत में बड़ी रियायत का प्रस्ताव किया है। लोकसभा चुनाव से पहले ये आम आदमी को सरकार की तरफ से बड़ा तोहफा है। सरकार आयकर छूट की सीमा ढाई से लाख रुपये से बढ़ाकर सीधे 5 लाख रुपये कर दिया है। मोदी सरकार अंतरिम बजट में आयकर छूट की सीमा बढ़ाकर मिडिल क्लास को खुश कर दिया है।


जानिए टैक्स में छूट की 10 बड़ी बातें-

1-वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने शुक्रवार को आयकर छूट की सीमा को दोगुना कर पांच लाख रुपये करने का प्रस्ताव किया है।

2-इसके अलावा मानक कटौती की सीमा को भी 40,000 रुपये से बढ़ाकर 50,000 करने का प्रस्ताव किया गया है।

3-गोयल ने लोकसभा में 2019-20 का बजट पेश करते हुए कहा कि इस प्रस्तवा से मध्यम वर्ग के तीन करोड़ करदाताओं को लाभ होगा। आयकर छूट की सीमा को दोगुना करने से सरकारी खजाने पर 18,500 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा।

4-निवेश के साथ 6.5 लाख रुपये की आय पर कोई टैक्सब नहीं देना होगा। यदि कोई करदाता किसी सरकार की विशेष कर बचत योजना में निवेश करता है तो उसके लिए प्रभावी कर मुक्त आय की सीमा एक साल में 6.5 लाख रुपये होगी।

5-एनपीएस, चिकित्सा बीमा और आवास ऋण के ब्याज भुगतान को जोड़ने पर यह सीमा और बढ़ जाएगी।

6-वित्त मंत्री ने बैंकों और डाक खाकघर की बचत योजनाओं पर मिलने वाले सालना 40000 रुपये तक के ब्याज को स्रोत पर कर की कटौती (टीडीएस) से छूट दे दी है। अभी छूट 10000 रुपये तक के ब्याज पर थी।

7-सरकार के इस फैसले से पांच लाख से ऊपर आय वालों को 13 हजार रुपये का फायदा होगा।

8-इसी के साथ एफडी के ब्याज पर 40 हजार तक टैक्स नहीं देना होगा। अबतक 10 हजार ब्याज पर टैक्स नहीं था।

9-महिलाओं को बैंक से 40 हजार तक ब्याज पर टैक्स नहीं देना होगा।

10-गोयल ने ग्रेच्युटी भुगतान सीमा को 10 लाख रुपये से 20 लाख रुपये कर दिया गया है. इसका मतलब यह है कि अब लगभग पांच साल के बाद नौकरी छोड़ने पर मिलने वाली अधिकतम 10 लाख रुपये की राशि को बढ़ाकर अधिकतम 20 लाख रुपये कर दिया गया है।