breaking news New

कराया जा रहा था बाल विवाह, मौके पर पहुंचीं जिला बाल संरक्षण और पुलिस की टीम...

कराया जा रहा था बाल विवाह, मौके पर पहुंचीं जिला बाल संरक्षण और पुलिस की टीम...

धमतरी: 

सख्त कानून के बाद भी समाज मे लोग बाल विवाह कराने से बाज नही आ रहे है। शहर में बाल विवाह की सूचना पर शनिवार को जिला बाल संरक्षण और कोतवाली पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और 14 साल की एक नाबालिग लडक़ी की शादी रुकवाई। वही टीम ने परिजनों को हिदायत दिया है कि बालिग होने पर ही लडक़ी की शादी कराएं। इसके आलावा जिला बाल संरक्षण की टीम ने दुल्हन और परिवार वालो का शपथ पत्र भी लिया है।

दरअसल, जिला बाल संरक्षण विभाग और कोतवाली पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि कोतवाली थाना क्षेत्र के एक वार्ड में बाल विवाह हो रहा है और लड़की अभी 14 साल की है। वही जिस युवक से शादी हो रही थी, उसकी उम्र लगभग 26 साल है, जो उसी वार्ड का है। जिसके बाद जिला बाल संरक्षण अधिकारी और पुलिस की टीम पूरे दल बल के साथ शादी के घर पहुंची, जहां शादी की सभी तैयारियां की गई थीं। मौके पर पहुंची टीम के काफी समझाने के बाद ही परिवार ने शादी रोकने पर सहमति जताई। वही जिला बाल संरक्षण की टीम ने लडक़ी पक्ष से बालिग होने पर ही शादी कराने को लेकर शपथ पत्र लिया। इसके साथ ही, जिला बाल संरक्षण टीम नाबालिग लड़की के भविष्य को संवारने के लिए कौशल विकास योजना के तहत नाबालिग लड़की को प्रशिक्षण देने की तैयारी कर रही है ताकि ये गरीब परिवार की लड़कियाँ अपने पैरों पर खड़ी हो सकें। वर्तमान में, जिला बाल संरक्षण विभाग ने लोगों से अपील की है कि वे अपने बच्चों की कम उम्र में शादी न करें। वही इस कानून को तोडऩे वालो पर कड़ी कार्रवाई की बात जिला बाल संरक्षण विभाग के अधिकारी आनंद पाठक ने कहा है। बाल विवाह रोकने पहुँचे टीम में जिला बाल संरक्षण अधिकारी आनंद पाठक, बाल संरक्षण अधिकारी यशवंत बैस, कोतवाली थाना से संतोषी नेताम और चाईल्ड लाइन की टीम पहुँची थी।