breaking news New

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के गेड़ी वाले बयान पर सियासी घमासान, कांग्रेस ने कहा “छत्तीसगढ़ की संस्कृति का अपमान”

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के गेड़ी वाले बयान पर सियासी घमासान, कांग्रेस ने कहा “छत्तीसगढ़ की संस्कृति का अपमान”

रायपुर| छत्तीसगढ़ में जैसे-जैसे नगरीय निकाय चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे aसियासी सरगर्मी बढऩे लगी है। राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी तेज हो गया है। इस बीच भूपेश सरकार के एक साल पूरे होने पर छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह द्वारा दिए गए बयान सियासी घमासान मच गया है। नगरीय निकाय चुनाव में कांग्रेस डॉ. रमन सिंह के इस बयान को छत्तीसगढ़ की संस्कृति से जोड़कर भाजपा को घेरने में जुटी है। गुरुवार को छत्तीसगढ़ सरकार में मंत्री रविन्द्र चौबे ने राजीव भवन में मीडिया से बातचीत में रमन सिंह के बयान की निंदा करते हुए कहा कि डॉक्टर साहब विधानसभा चुनाव की हार से अभी तक उबर नहीं पाए हैं। इसकी वजह से छत्तीसगढ़ के सम्मान और संस्कृति को ठेस पहुंचाने की कोशिश की है। उन्होंने कहा, राजनीति में आरोप-प्रत्यारोप हो सकते हैं, लेकिन डॉ. रमन सिंह ने आरोप के आड़ में छत्तीसगढ़ की संस्कृति, अस्मिता और सम्मान को चाटे पहुंचाने की कोशिश की है, उसे प्रदेश की जनता कभी माफ नहीं करेगी। छत्तीसगढ़ की संस्कृति में गेड़ी की परंपरा है। हरेली में छत्तीसगढ़ के शत-प्रतिशत नौजवान गेड़ी से जुड़ा हुआ है। उन्होंने कहा, रमन सिंह द्वारा मुख्यमंत्री को लबरा कहना प्रदेश की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाला है। मंत्री चौबे ने रमन सिंह पर तीखा हमला बोलते हुए उन्हें सबसे बड़ा झूठा बताया। उन्होंने कहा, रमन सिंह के द्वारा अपने शासन में कई झूठे वादे किए गए जबकि कांग्रेस ने विपक्ष में रहते हुए किए गए वादे एक घंटे में पूरे किए गए। इसी बीच मंत्री चौबे ने रमन सिंह और भाजपा पर कई मुद्दों को लेकर निशाना साधा। बतादें कि कांग्रेस सरकार के एक साल पूरा होने पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा, गेड़ी पर चढऩे और सोटा मारने से प्रदेश का विकास नहीं होता है। प्रदेश के विकास के लिए विजन होना चाहिए, जो एक साल बाद भी दिखाई नहीं देता। सरकार के एक साल का कामकाज बुरे सपने की तरह है। किसान, आदिवासी, युवा और महिलाएं अपने आप को ठगा महसूस कर रही है।