breaking news New

छत्तीसगढ़ : 24 परिवारों के 91 लोग जम्मू में बंधक, 41 बच्चे भी शामिल, दिल्ली के दो एनजीओ ने दिलाई रिहाई

छत्तीसगढ़ : 24 परिवारों के 91 लोग जम्मू में बंधक, 41 बच्चे भी शामिल, दिल्ली के दो एनजीओ ने दिलाई रिहाई

दिल्ली/रायपुर। अलग-अलग जिलों से बंधुआ मजदूर बनाकर जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले ले जाए गए 24 परिवारों के 91 लोगों को छुड़ाया गया। इसमें महिला, पुरुष और बच्चे भी बड़ी तादाद में शामिल हैं। राजौरी जिले में 'केबीके brick kiln'के ईंट भट्टे के अवैध कारोबार के लिए यहां लाए गए थे। इसमें 41 बच्चे भी शामिल हैं। इस रेस्क्यू अभियान को बंधुआ मजदूर बनाए गए दो मजदूरों के सुरक्षित वहां से बाहर निकलने के बाद नेशनल कैंपेन कमेटी फॉर इरैडिक्शन ऑफ बॉन्डेड लेबर्स और एक्शन एड एसोसिएशन, दिल्ली जैसे एनजीओ से संपर्क करने के बाद इन दोनों संगठनों द्वारा चलाए गए अभियान के जरिए सभी 91 लोगों को सुरक्षित बचाया गया है। जल्द ही इनकी छत्तीसगढ़ के लिए वापसी होगी। अभी यह सभी दिल्ली में हैं। दोनों एनजीओ ने इस अभियान में पहले एनएचआरसी और फ़िर राजौरी के डीएम को पत्र और ई- मेल भेजकर कार्रवाई करने की मांग की थी। जिसके बाद डीसी ने 26 और 27 दिसंबर को दो टीमें बनाकर राजौरी के दो गावों में रेड की और इन लोगों को वहां से सुरक्षित बाहर निकाला है।