breaking news New

मित्र के बिछुड़न पर फफकते मुख्यमंत्री कलाकारों को भी संदेश दे गए कि वे उनके बेहद करीब हैं

मित्र के बिछुड़न पर फफकते मुख्यमंत्री कलाकारों को भी संदेश दे गए कि वे उनके बेहद करीब हैं

रायपुर। कभी गेंड़ी, कभी भौंरा…तो कभी सोंटा…अपने ठेठपन की इन तमाम वजहों से सुर्खियों रहते हुए प्रदेश की जनता के दिलों में स्थानीयता और अपनेपन की मजबूत छवि बना रहे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज एक बार फिर चर्चे में हैं। इस बार भी वे अपनी सहजता, सरलता और संवेदनशीलता के कारण ही सुर्खियों में हैं। मुख्यमंत्री ने आज आम जनता के साथ साथ प्रदेश के कलाकार बिरादरी को भी अहसास कराया है कि वे कलाकारों के काफी करीब हैं। संभवत: यह पहला मौका होगा कि छत्तीसगढ़ के किसी लोक कलाकार के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि देने प्रदेश के मुख्यमंत्री समेत इतने सारे मंत्री और विधानसभा अध्यक्ष पहुंचे होंगे। श्रद्धांजलि सभा में मुख्यमंत्री को फफकता देख वहां मौजूद हर एक की आंखें नम हो गईं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज गरियाबंद जिले के ग्राम बारुका पहुंचकर राज्य के सुप्रसिद्ध लोकगायक स्वर्गीय मिथलेश साहू के दशगात्र कार्यक्रम में शामिल हुए और उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री बघेल ने स्वर्गीय श्री साहू के परिवारजनों से मुलाकात कर अपनी गहरी शोक-संवेदना प्रकट की। इस अवसर पर उन्होंने उनकी माता मनटोरा बाई, धर्मपत्नी आशालता, पुत्र खुमन साहू एवं शोक-संतप्त परिवारजनों को ढांढस बंधाया।