breaking news New

चुनाव का शंखनाद - आठ फरवरी को भोपाल मे राहुल गांधी करेंगे लोकसभा चुनाव की सभा

चुनाव का शंखनाद - आठ फरवरी को भोपाल मे राहुल गांधी करेंगे लोकसभा चुनाव की सभा

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी 8 फरवरी को भोपाल आ रहे हैं। यहां वे जंबूरी मैदान में आयोजित किसानों की आम सभा को संबोधित करेंगे। यहीं से राहुल मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव का बिगुल भी फूंकेंगे। कांग्रेस की 15 साल बाद हुई सत्ता में वापसी पर उसे प्रदेश में अगले लोकसभा चुनाव में 20 से 22 सीटें जीतने की उम्मीद है। इस दिशा में पार्टी स्तर पर काम भी शुरु हो गया है।

राहुल गांधी ने बीते साल 6 जून को मंदसौर की पिपल्या मंडी में किसानों की आमसभा में मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने पर 10 दिन में कर्जमाफी की घोषणा की थी। इसके बाद प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनते ही शपथ लेने के डेढ़ घंटे बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने वादा निभाते हुए किसानों का दो लाख तक का कर्ज माफ कर दिया था।


चुनावी सभा का उद्देश्य 

किसान राहुल का धन्यवाद ज्ञापित करेंगे : कर्ज माफी के बाद प्रदेश के किसान इस सभा के माध्यम से  राहुल गांधी का धन्यवाद ज्ञापित करेंगे। सभा में प्रदेश भर से किसानों को राजधानी लाने की कांग्रेस ने तैयारी शुरु कर दी है। इस आयोजन को अंतिम रूप मुख्यमंत्री के दावोस से भोपाल वापसी पर दिया जाएगा। नाथ की यहां 27 जनवरी को प्रदेश कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ बैठक प्रस्तावित है, जिसमें इस कार्यक्रम को अंतिम रूप दिया जाएगा। पीसीसी ने आमसभा में ज्यादा से ज्यादा किसानों की उपस्थित दर्ज कराने के लिए सभी निर्वाचित विधायकों, जनप्रतिनिधियों, जिला और शहर कांग्रेस अध्यक्ष तथा नगरीय निकायों के दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं।


लोकसभा प्रभारी को तीन जिलों की जिम्मेदारी: कांग्रेस ने 29 लोकसभा सीटों के लिए प्रभारी घोषित कर दिए हैं जो संसदीय सीट में कांग्रेस कार्यकर्ताओ के बीच समन्वय स्थापित करेंगे। भोपाल, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर जैसे बड़े शहरों को छोड़कर बाकी लोकसभा सीटों पर  प्रभारियों को तीन-तीन जिलों की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसमें खास यह भी रहेगा कि नियुक्त किए गए प्रभारियों से लोकसभा प्रत्याशी के बारे में भी राय ली जाएगी।

देना होगी रिपोर्ट: लोकसभा प्रभारी अपनी रिपोर्ट मुख्यमंत्री कमलनाथ और प्रभारी दीपक बावरिया को सौंपेंगे। इसके बाद आगे लोकसभा सीटों पर प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया शुरू होगी। कांग्रेस का फोकस ऐसी सीटों पर हैं जहां उसे बीते तीन दशकों से जीत नहीं मिली है। इसी के चलते भोपाल लोकसभा सीट की कमान वरिष्ठ नेता रामेश्वर नीखरा और विदिशा लोकसभा की जिम्मेदारी पूर्व मंत्री प्रभु सिंह को सौंपी गई है। साथ ही अशोक शर्मा को मुरैना, बाबूलाल सोलंकी को भिंड, विपिन खुजनेरी को ग्वालियर, पूर्व सांसद  प्रतापभानु शर्मा को इंदौर लोकसभा की जिम्मेदारी दी गई है।