breaking news New

अनूठी अंतिम यात्राः महिला की अर्थी को 10 बेटियों ने दिया कंधा, जिसने भी देखा हैरान रह गया

अनूठी अंतिम यात्राः महिला की अर्थी को 10 बेटियों ने दिया कंधा, जिसने भी देखा हैरान रह गया

चन्द्रशेखर सोलंकी/रतलाम: आमतौर पर किसी व्यक्ति की मृत्यु के समय शवयात्रा और अंतिम संस्कार में महिलाएं शामिल नहीं होती. ऐसे में जब महिलाओं द्वारा किसी शवयात्रा में अर्थी को कन्धा देने की बात सामने आती है, तो यह बात अनोखी लगती है ,ऐसी ही एक तस्वीर रतलाम से सामने आयी है. दरअसल यहां एक बुजुर्ग महिला की अर्थी को उनकी 10 बेटियो ने कंधा दिया.

खबर के अनुसार, रतलाम की 95 वर्षीय बुजुर्ग महिला हीरीबाई का शनिवार को देहांत हो गया था. उनका कोई पुत्र नहीं था और 10 बेटियां हैं. हीरीबाई की दसों पुत्रियों ने मां के निधन पर यह निर्णय लिया कि वे स्वयं ही उन्हे अंतिम विदाई देंगी. कंधा देने वालों में हीरीबाई की सबसे बड़ी 77 वर्षीय बेटी सबसे आगे रही, हीरीबाई की दसों पुत्रियों ने अपनी मां की अर्थी को कन्धा देकर उन्हे त्रिवेणी मुक्तिधाम पंहुचाया. 

रास्ते मे इस तरह की शव यात्रा को देख लोग भी हैरान हुए. इस दौरान कुछ लोगों ने इस अनूठी तस्वीर को अपने मोबाइल कैमरे में भी कैद किया जो वायरल हो रही है. इन बेटियो की इस अनूठी पहल से समाज को एक नई प्रेरणा मिल रही है. हर कोई इस तस्वीर को देखकर इस परिवार की इन बेटियों की सराहना कर रहा है. 

Latest Videos