breaking news New

CAA Protest : उप्र की हिंसा में PFI और SIMI के हाथ होने का आरोप, उपद्रवियों की पहचान शुरू

CAA Protest : उप्र की हिंसा में PFI और SIMI के हाथ होने का आरोप, उपद्रवियों की पहचान शुरू

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने नागरिकता संशोधन कानून को लेकर राज्य में हुई हिंसा के लिए 'बाहरी" लोगों को जिम्मेदार ठहराते हुए रविवार को कहा कि इस्लामिक संगठन पीएफआई और सिमी से जुड़े बंगाल के छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, सरकार ने उपद्रवियों की पहचान की प्रक्रिया शुरू कर दी है और लखनऊ जिला प्रशासन ने नुकसान का आकलन के लिए चार सदस्यीय पैनल बनाई है। गोरखपुर पुलिस ने भी जुमे की नमाज के बाद उपद्रव करने के 50 आरोपितों की फोटो जारी किए हैं। इनकी पहचान वीडियो फुटेज की गई है। इसके पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि नुकसान की वसूली हिंसा में शामिल लोगों की संपत्ति जब्त कर की जाएगी।

राज्य में अब तक 16 मौतें

राज्य में कई दिनों तक हुई हिंसा में 16 लोगों की मौत हो गई है और पुलिस कर्मियों समेत सैकड़ों लोग घायल हुए हैं। हालांकि रविवार को राजधानी लखनऊ समेत मेरठ, फिरोजाबाद, कानपुर तथा बिजनौर जिलों में स्थिति शांतिपूर्ण बनी रही। यद्यपि कई जिलों में इंटरनेट सेवाएं सोमवार तक बंद रखी गई हैं और राज्य भर में निषेधाज्ञा जारी है।