breaking news New

28 करोड़ लोगों के सिम हो सकते हैं बंद, जानिए कहीं आपका भी तो नंबर नहीं ?

28 करोड़ लोगों के सिम हो सकते हैं बंद, जानिए कहीं आपका भी तो नंबर नहीं ?

वोडाफोन, आइडिया और भारती एयरटेल अपने ऐसे ग्राहकों के मोबाइल कनेक्शन को बंद करने की योजना बना रहे हैं, जो हर महीने नेटवर्क पर 35 रुपये से कम खर्च करते हैं। अगर ऐसा हुआ तो इन कंपनियों के करीब 20 करोड़ 2जी उपभोक्ताओं का मोबाइल कनेक्शन बंद किया जा सकता है। हालांकि उपभोक्ताओं को इसके लिए ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है।


इतने उपभोक्ताओं को बंद हो सकता है मोबाइल कनेक्शन

एयरटेल के करीब 10 करोड़ उपभोक्ता इस दायरे में हैं।

वोडाफोन, आइडिया के करीब 15 करोड़ उपभोक्ताओं का कनेक्शन बंद हो सकता है।

यूजर्स न लें टेंशन

भले ही वोडाफोन, आइडिया और एयरटेल कम खर्चा करने वाले उपभोक्ताओं का मोबाइल कनेक्शन बंद करने पर विचार कर रहे हैं। इसके बावजूद उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि भारती एयरटेल ने 35 रुपये से शुरू होने वाले सात प्लान बाजार में उतारे हैं। जबकि, वोडाफोन और आइडिया ने भी इस तरह के पांच प्लान जारी किए हैं। जिसमें सबसे कम का रिचार्ज 35 रुपए का है।


एयरटेल का कहना है

भारती एयरटेल के सीइओ और मैनेजिंग डायरेक्टर (भारत और दक्षिणी एशिया) गोपाल वित्तल ने कहा, 'कंपनी के 33 करोड़ वायरलेस ग्राहक हैं, लेकिन ऐसे 10 करोड़ उपभोक्ता हैं, जिनका Average Realisation Per USer (ARPU) काफी कम हैं। ये यूजर्स ज्यादातर इनकमिंग कॉल्स पर निर्भर रहते हैं और उनका ARPU औसत ग्राहको से काफी कम है।' वहीं, वोडाफोन- आइडिया के सीइओ बालेश शर्मा ने कहा कि कई ग्राहकों के पास केवल फ्री इनकमिंग के लिए कनेक्‍शन है। उनकी ऑउटगोइंग न के बराबर है, इसलिए वे रिचार्ज नहीं कराते। जिस कारण ARPU काफी कम है।


नुकसान की आशंका

हालांकि अपने इस कदम पर वोडाफोन पर नुकसान होने की आशंका है। वोडाफोन का कहना है कि सिर्फ इनकमिंग के लिए सिम रखने वाले इन ग्राहकों की सर्विस बंद करनी पड़ेगी। कनेक्शन बंद करने की स्थिति में ग्राहक घट सकते हैं। वहीं, एयरटेल के मुताबिक इस कदम से तीसरी तिमाही में कंपनी के ARPU में सुधार होने की उम्‍मीद है।


ऐसा करने की वजह क्या है?

नुकसान की आशंका के बावजूद टेलीकॉम कंपनियों ने कम रिचार्ज कराने वाले 2जी यूजर को टार्गेट इसलिए किया है, क्‍योंकि इन ग्राहकों से उनकी आमदनी कम हो रही है। साथ ही, कंपनी अपने 2जी नेटवर्क को कम करना चाहती है, ताकि 4जी ग्राहकों की संख्‍या बढ़ सके।