breaking news New

Budget 2019 - टेक्नालजी के क्षेत्र मे लाने वाली है एक अनोखी क्रांति

Budget 2019 - टेक्नालजी के क्षेत्र मे लाने वाली है एक अनोखी क्रांति

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने आज अंतरिम बजट 2019 पेश किया। इस बजट में तकनीक और टेलिकॉम सेक्टर को भी सम्मिलित किया गया है। पीयूष गोयल ने AI, डाटा और वॉयस कॉल समेत लोकल मोबाइल मैन्युफेक्चरिंग के बारे में बताया।

सरकार आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (Artificaial Intelligence) के लिए एक नेशनल सेंटर शुरू करेगी। इसके साथ ही यह भी बताया कि भारत स्टार्टअप के लिए दूसरे सबसे बड़ा हब बन गया है। यही नहीं, वैश्विक तौर पर भारत में सबसे कम कीमत में डाटा और वॉयस कॉल प्रदान करता है। पिछले 5 वर्षों में भारत में मासिक मोबाइल डाटा यूसेज 50 प्रतिशत बढ़ गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में लोकल मोबाइल मैन्युफेक्चरिंग में नौकरी के मामले में काफी बढ़त देखने को मिली है।


Artificial Intelligence से भारत सरकार को मिलेगा बहुत बड़ा फायदा 

AI तकनीक अलग-अलग तकनीकों जैसे कार का पावर मैनेजमेंट, मोबाइल डिवाइस, वेदर, वीडियो और इमेज एनालिसिस, के डाटा का विश्लेषण करने में मदद करेगी। इससे उनकी क्षमता में सुधार हो सके। आपको बता दें कि नेशनल सेंटर भारत के लिए कई मायनों में मददगार साबित होगा।

पीयूष गोयल ने कहा कि AI और एडवांस टेक्नोलॉजी के लाभ को प्राप्त करने के लिए सरकार द्वारा AI पर एक नेशनल प्रोग्राम की परिकल्पना की गई है। उन्होंने कहा कि एक नेशनल AI पोर्टल भी जल्द ही डेवलप किया जाएगा।

चीन पिछले कुछ वर्षों से AI सेक्टर में काफी निवेश कर रहा है। स्टैंडपोर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर ने 2018 में कहा था कि AI अगले इलेक्ट्रिसिटी होगी। यह आने वाले समय में डेवलपमेंट का ठीक वैसा ही मुख्य स्तम्भ होगा, जैसा कि 20वीं सदी की शुरुआत में विश्व विकास में इलेक्ट्रिसिटी ने प्रमुख भूमिका निभाई थी।

ऐसे में अगर भारत AI पर इसी तरह काम करता रहा तो पावर मैनेजमेंट, मोबाइल डिवाइस, वेदर, वीडियो और इमेज एनालिसिस, के डाटा का विश्लेषण करने में मदद करेगी।